Shayari Love

मोहब्बत भरी नजरों में ख्वाब मिलेंगे कहीं कांटे तो कहीं गुलाब मिलेंगे मेरे दिल की किताब को पढ़ के तो देखो कहीं आपकी याद तो कहीं खुद आप मिलेंगे

दोस्त भी तुम प्यार भी तुम एक भी तुम हजार भी तुम गुस्सा भी तुम माफी भी तुम जिंदगी के सफर में मेरे लिए काफी हो तुम

तुम दुआ हो मेरी सदा के लिए मैं जिंदा हूं तुम्हारी दुआ के लिए कर लेना लाख शिकवे हमसे मगर कभी खफा ना होना खुदा के लिए

चूम लूं मैं लबों से अपने ये आंखे तेरी बेचैन कर दूं मैं सारी रातें तेरी खून बनकर समा जाऊं मैं तेरे जिस्म में बनकर दिल तेरा मैं महसूस करूं सांसें तेरी

बेनाम मोहब्बत दिल में दबा रखी है, तेरी चाहत सपनो में सजा रखी है, ये दुनिया बदले पर तुम ना बदलना, ये उम्मीद सिर्फ तुमसे लगा रखी है..

कोई है जो दुआ करता है अपनो में मुझे भी गिना करता है बहुत खुशनसीब समझते हैं खुद को हम दूर रह कर भी जब कोई प्यार किया करता है

तुम आए तो मेरे इश्क में अब बरकत होने लगी है चुपचाप रहता था दिल मेरा अब हरकत होने लगी है..

AUR SHAYARI KE LIYE